RTO Officer Kaise Bane योग्यता और सैलरी पूरी जानकारी

हेलो दोस्तों fresherhits.com में आपका स्वागत है RTO Officer Kaise Bane योग्यता और सैलरी पूरी जानकारी के लिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें। 

RTO Officer Kaise Bane योग्यता और सैलरी पूरी जानकारी
RTO Officer Kaise Bane


Table of Contents (toc)

आज के समय में हर कोई अच्छी नौकरी पाकर अपना भविष्य बनाना चाहता है। जब सरकारी नौकरी की बात आती है तो जो एक अच्छा और सुरक्षित भविष्य दे सके तो आप आरटीओ ऑफिसर बनने के बारे में सोच सकते हैं आरटीओ ऑफिस और आरटीओ ऑफिसर शब्द आपने लगभग रोज अखबारों या खबरों में पढ़ा होगा। इससे आप इसके महत्व का अंदाजा लगा सकते हैं।

यही कारण है कि इस लेख “आरटीओ ऑफिसर कैसे बने” में हमने चर्चा की है कि आरटीओ ऑफिसर क्या होता है, आरटीओ फुल फॉर्म, आरटीओ ऑफिसर बनने की योग्यता, आरटीओ ऑफिसर चयन प्रक्रिया, आरटीओ ऑफिसर की सैलरी कितनी होती है, आरटीओ अधिकारी के काम विस्तार से बताया।


RTO ऑफिसर क्या होता है, RTO का Full Form

RTO का Full Form “Regional Transport Office” होता है। यह एक सरकारी विभाग है जो भारत सरकार के अंतर्गत आता है। यह विभाग मोटर वाहनों से संबंधित अधिनियमों के निरीक्षण, पर्यवेक्षण और सुरक्षा के लिए बनाया गया है। RTO Officer वह अधिकारी होता है जो इन कार्यालयों में एक अधिकारी के रूप में काम करता है। आसान भाषा में समझने के लिए इसे हम आरटीओ ऑफिस का इंचार्ज कह सकते हैं। 


RTO Officer बनने के लिए योग्यता। 

RTO Officer बनने के लिए ग्रेजुएशन होना जरूरी है आपने किसी भी स्ट्रीम यानी साइंस, कॉमर्स से ग्रेजुएशन किया है, आप ऑटो ऑफिसर बनने के योग्य हैं। आपके न्यूनतम अंक 55% होने चाहिए।

कुछ राज्यों में बारहवीं के बाद ऑटोमोबाइल, मैकेनिकल जैसे विषयों में डिप्लोमा किए उम्मीदवार को भी आरटीओ बनने के योग्य माना जाता है।

आपके पास ड्राइविंग लाइसेंस होना चाहिए।


RTO ऑफिसर बनने के लिए आयु सीमा। 

RTO ऑफिसर बनने के लिए आपकी उम्र 21 से 30 साल होनी चाहिए। सरकारी नियमों के अनुसार आयु में 3-10 वर्ष की छूट दी जाती है।

नोट- हर राज्य के अपने नियम होते हैं। इसलिए आयु सीमा, योग्यता और न्यूनतम अंकों में मामूली अंतर हो सकता है। इसलिए आपको अधिसूचना को ध्यान से पढ़ना चाहिए ताकि आप पात्रता मानदंड को ठीक से समझ सकें।


RTO Officer Selection Process Kya Hota Hai ?

आपको बता दें कि आरटीओ कोई डायरेक्ट पोस्ट नहीं है। इसके लिए सबसे पहले आपको एमवीआई (मोटर व्हीकल इंस्पेक्टर) या एआरटीओ ऑफिसर बनना होगा। कहीं-कहीं IMV नाम से एक पोस्ट भी है। ये सभी पद बी ग्रुप में आते हैं। इनके लिए राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा परीक्षा ली जाती है। कुछ राज्यों में परिवहन विभाग द्वारा भर्ती की जाती है।

कुछ वर्षों तक एमवीआई या एआरटीओ अधिकारी के पद पर काम करने के बाद RTO Officer  के रूप में पदोन्नति मिलती है।

जैसे पहले आपको MVI ग्रेड 2 पर 4-5 साल काम करना होता है। इसके बाद आपको MVI ग्रेड 1 में प्रमोट किया जाता है। 8-9 साल तक काम करके आप RTO के लेवल पर पहुंच जाते हैं। कुछ एग्जाम बीच में क्लियर भी करने पड़ते हैं।

इसमें तीन चरण होते हैं लिखित परीक्षा, शारीरिक फिटनेस परीक्षण और साक्षात्कार। 

लिखित परीक्षा। 

यह 200 अंकों की परीक्षा है। इसके लिए दो घंटे का समय दिया जाता है।

इस परीक्षा में करंट अफेयर्स, इतिहास, बेसिक साइंस, जनरल अवेयरनेस, हिंदी, अंग्रेजी, स्टेट लैंग्वेज (तेलुगु, मराठी), भूगोल, रीजनिंग, ऑटोमोबाइल, एप्टीट्यूड जैसे विषयों से प्रश्न पूछे जाते हैं। लिखित परीक्षा ऑब्जेक्टिव प्रश्न की होती है।

शारीरिक फिटनेस परीक्षण। 

इसमें शारीरिक जांच, कद, आंखों की रोशनी, वजन जैसी चीजें चेक की जाती हैं।

साक्षात्कार। 

पहले दो चरणों को पास करने के बाद इंटरव्यू आयोजित किया जाता है। इसके बाद फाइनल मेरिट लिस्ट बनती है।


RTO Officer के काम क्या है ?

  1. नए वाहनों का पंजीकरण
  2. व्यवसायिक वाहनों के लिए परमिट जारी करना
  3. ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के इच्छुक लोगों का टेस्ट लेना
  4. वाहन चलाने के लिए लाइसेंस जारी करना
  5. लाइसेंस का नवीनीकरण
  6. अपने शहर के सभी वाहनों का रिकॉर्ड रखना
  7. मोटर वाहन कर की वसूली
  8. वाहनों की स्थिति की जांच करता है कि वे सड़क पर चलने के लिए फिट हैं।
  9. वाहन बीमा जांच करना
  10. दुर्घटना की स्थिति में वाहन को हुए नुकसान की सीमा की जाँच करना

किसी भी RTO ऑफिस में एक पूरी टीम होती है। वे विभिन्न स्तरों पर एक दूसरे का समर्थन करते हैं।


RTO Officer बनने के लिए आवेदन कैसे करें। 

  • आरटीओ अधिकारी के लिए कोई सीधी भर्ती नहीं होती है।
  • आपको पहले एमवीआई या एआरटीओ के लिए आवेदन करना होगा।
  • किसी भी राज्य में आरटीओ अधिकारी परीक्षा अधिसूचना आने पर परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन करें।
  • अब लिखित परीक्षा पास करें।
  • इसकी भर्ती के लिए राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा परीक्षा आयोजित की जाती है।
  • इसके बाद फिजिकल टेस्ट पास करें। इसके बाद आपको इंटरव्यू पास करना होगा फिर आपके डाक्यूमेंट्स वेरीफाई किए जाएंगे। जब आप कुछ वर्षों के लिए एमवीआई या एआरटीओ के पद पर काम करते हैं, उसके बाद आप पदोन्नत होकर आरटीओ अधिकारी बन सकते हैं।
  • RTO Officer बनने के लिए न्यूनतम योग्यता स्नातक (Graduation) है। कुछ राज्य ऑटोमोबाइल या मैकेनिकल विषयों में डिप्लोमा धारकों को भी मौका देते हैं।


Conclusion: 

आपको यह पोस्ट कैसी लगी अगर आपको RTO Officer Kaise Bane यह समझने में कोई समस्या है तो हमे कमेंट करके जरूर बताए।


FAQ - RTO Officer Kaise Bane 

Q. 1 RTO ऑफिसर की सैलरी कितनी होती है ?

Ans - आरटीओ अधिकारी एक ग्रेड बी पद है। इसके लिए 15,600-55,000 रुपये वेतन और 4200 रुपये ग्रेड पे दिया जाता है।


Q. 2 RTO ऑफिसर बनने के लिए तैयारी कैसे करें ?

Ans - आरटीओ ऑफिसर बनने के लिए आपको 12वीं के बाद से ही तैयारी शुरू कर देनी चाहिए, क्योंकि आज के समय में कॉम्पिटिशन बहुत बढ़ गया है, इसलिए 12वीं के बाद आपको कड़ी मेहनत करनी चाहिए, इसके लिए आपको सामान्य ज्ञान, रीजनिंग, अंग्रेजी आदि पर ध्यान देना चाहिए। इस विषय पर। ताकि परीक्षा के समय यह आपकी मदद कर सके। आपको एक टाइम टेबल बनाना चाहिए और उस टाइम टेबल पर नियमित रूप से काम करना चाहिए तभी आप आरटीओ अधिकारी बन पाएंगे।


यह भी देखें। 👇

Daroga Kaise Bane - दरोगा के लिए योग्यता

Silai me Career Kaise Banaye

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.